Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

तालाब में डूबने से 3 बच्चियों की मौत ,एक ही परिवार के थे तीनों

 तालाब में नहाने के क्रम में सभी पानी में डूबे,  परिवार और गांव में छाया मातम
चाईबासा:  पश्चिमी सिंहभूम जिले मे  तालाब में डूबने से 3 मासूम बच्चियों की मौत हो गई है ।  घटना खूंटपानी प्रखंड मुफस्सिल थाना अंतर्गत कोटसोना टोली तोरंग साईं गांव का है। एक साथ 3 बच्चों की मौत से इलाके में मातम पसर गया है। मौत के मुंह में समा गए बच्चे एक ही परिवार के थे।खूंटपानी प्रखंड के कोटसोना टोली तोरंग साईं गांव में बुधवार की सुबह लगभग 9 बजे यह हादसा हुआ। ग्रामीण कप्तान होनहागा की पुत्री साढ़े 4 वर्षीय स्नेहा होनहागा, डोबरो होनहागा की पुत्री 5 वर्षीय मंजू होनहागा तथा भोलाराम होनहागा की पुत्री 6 वर्षीय गीतिका होनहागा सड़क पर खेल रही थी। इसी दरमियान खेलने के बाद सभी बच्चियां तालाब में नहाने गई। नहाने के दरमियान तालाब में डूबने से तीनों बच्चियों की मौत हो गई। इन बच्चियों के साथ ही ग्रामीण कप्तान होनहागा की दूसरी पुत्री सानिया भी थी। तीनों बच्चियों को तालाब में उतरते देखी थी। लेकिन कुछ देर बाद तालाब में कोई नहीं दिखाई देने पर गांव जाकर स्वजनों को इसकी जानकारी दी। स्वजनों और ग्रामीणों ने तालाब आकर छानबीन की तो बच्चों को डूबा पाया। बाद में एंबुलेंस को फोन कर बुलाया गया और शव अनुमंडल अस्पताल चक्रधरपुर लाया गया।‌ बताया जाता है कि बुधवार की सुबह गांव में इन बच्चों के परिजन घरों की छप्पर की मरम्मत कर रहे थे। बरसात के मौसम को देखते हुए परिवार वाले कार्य में व्यस्त थे। इधर बच्चियां खेलने में मस्त थीं, इसलिए किसी का ध्यान उनकी ओर गया ही नहीं। लेकिन जब समूह की छोटी बच्ची सानिया भागते हुए गांव पहुंची और बाकी के तालाब में डूबने की जानकारी दी तो सबके होश उड़ गए। आनन-फानन में सभी तालाब पहुंचे तो गम का सैलाब टूट पड़ा। चक्रधरपुर और मुफस्सिल थाना पुलिस पहुंची। एंबुलेंस से तीनों बच्चियों के शव को अनुमंडल अस्पताल चक्रधरपुर लाया गया। सूचना पाते ही चक्रधरपुर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार पहुंचे और बच्चियों के शवों को देखने के बाद उन्हें कपड़े से ढकवाया। कुछ देर बाद मुफस्सिल थाना पुलिस भी अनुमंडल अस्पताल चक्रधरपुर पहुंची और बच्चियों के स्वजनों से मामले को लेकर पूछताछ की। घटना के बाद परिवार में शोक की लहर दौड़ गई है गांव में भी ग्रामीणों के बीच शोक व्याप्त है परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।
Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply