Live 7 Bharat
जनता की आवाज

सरकार पर संकट गहराया तो झामुमो लगा सकती है शिबू सोरेन पर दाव!

- Sponsored -

अनुराग ठाकुर

- Sponsored -

रांची : झारखंड में आसन्‍न सियासी संकट के बीच कभी भी कुछ भी हो सकता है। मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन पर लगे आरोपों पर अगर राजभवन की ओर से कोई कार्रवाई होती है तो झामुमो अपने पार्टी सुप्रीमो शिबू सोरेन पर दांव लगा सकती है। शिबू सोरेन अभी राज्यसभा के सदस्य हैं। वह पहले भी राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। झामुमो ने अंदर ही अंदर इसकी पूरी प्लानिंग कर रखी है। हालांकि पार्टी का कोई नेता अभी इस मुद्दे पर कुछ भी बोलने से बच रहा है। फिलहाल, सीएम रहते अपने नाम पर खनन पट्टा लेने के आरोप में हेमंत सोरेन और उनके भाई विधायक बसंत सोरेन की मुश्किलें बढ़ी हुई हैं। मालूम हो कि राज्यपाल रमेश बैस पहले ही नई दिल्ली का दौरा कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात कर चुकें हैं। राज्यपाल के दिल्ली दौरे के बाद से ही यहां तरह-तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। इस बीच राज्यपाल से मिलकर सत्तारूढ़ दल के नेताओं ने कहा है कि भाजपा इस मामले में भ्रम फैला रही है। सीएम हेमंत का माइंस मामला लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 9ए में नहीं आता। इसलिए राज्‍यपाल मुख्यमंत्री पर लगे आरोपों पर पूरी तरह संतुष्ट होने के बाद ही किसी तरह की कानूनी कार्रवाई करें।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: