Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

सभी को एकजुट होकर काम करने की आवश्यकता: डीसी 

लोहरदगा जिला प्रशासन की एक महत्वपूर्ण अपील
कयूम खान
लोहरदगा: लोहरदगा उपायुक्त दिलीप कुमार टोप्पो ने मंगलवार की शाम जिला प्रशासन की ओर से जिला वासियों के नाम एक महत्वपूर्ण अपील जारी किया है। उन्होंने कहा है कि आप सभी जानते है कि वर्तमान में समूचे विश्व में कोरोना का संक्रमण महामारी के रूप में फैला हुआ है। हमारा देश भी इससे बुरी तरह प्रभावित हुआ है। हमारे जिला लोहरदगा में काफी लोग इसकी चपेट में आये हैं और कुछ लोगों की इससे जान भी गई है। इस विपदा की घड़ी में हम सभी को एकजुट होकर काम करने की आवश्यकता है। कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए मास्क का प्रयोग, भीड़भाड़ से दूर रहना एवं सेनेटाईजर का प्रयोग अथवा साबुन से नियमित हाथ धोना आवश्यक है।
बिना देरी किए कराएं कोरोना की जांच, कराएं वैक्सीनेशन
कोरोना से लड़ाई में आपका सबसे पहला हथियार है बिना देरी के कोरोना की जांच कराना ताकि तुरंत इलाज संभव हो सके एवं आपकी जान बचाई जा सके।लड़ाई में दूसरा मुख्य हथियार है वैक्सिनेशन अथवा टीकाकरण। कोरोना से बचाव के लिए सरकार की ओर से टीकाकरण कार्यक्रम विभिन्न सरकारी केन्द्रों पर निःशुल्क चल रहा है। टीकाकरण के उपरांत कोराना जानलेवा नहीं रह जाता है। ऐसा देखा जा रहा है कि जिन व्यक्तियों की कोरोना से मृत्यु हुई है उनमें से 95 प्रतिशत लोग ऐसे थे जिनका टीकाकरण नहीं हुआ था। ऐसे लोग जिनका टीकाकरण हुआ था वे कोरोना होने के बाद भी बिना किसी हानि के ठीक हो गये अत कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण बहुत जरूरी हैं। वर्तमान में कोरोना का स्वरूप ऐसा है कि यह फेफड़ों को तीव्र गति से क्षतिग्रस्त करता है तथा शरीर ऑक्सिजन की कमी को तीव्र गति से बढ़ाते हुए जान ले लेता है। अत: इससे बचना अति आवश्यक है।
ऐसे दुष्प्रचार से सावधान रहने की जरूरत
उपायुक्त ने कहा कि ऐसा देखा जा रहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में दुष्प्रचार है कि टीकाकरण कराने से लोगों को मृत्यु हो जाती है अथवा वे नपुंसक हो जाते हैं। ऐसे दुष्प्रचार से सावधान रहने की जरूरत है। इस समय टीकाकरण को छोड़कर कोरोना से बचाव के लिए कोई दूसरा विकल्प है ही नहीं। इसलिए अफवाहों पर ध्यान न देकर अपना ,अपने मित्रों एवं अपने परिवार जनों का टीकाकरण करवाना सुनिश्चित करें। टीका लेने से एक-दो दिन हल्का बुखार या बदन दर्द होना सामान्य बात है। हल्का बुखार होना शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने की निशानी है। इस मौसम में टाइफाइड, मलेरिया जैसी मौसमी बीमारियां भी हो रही है, लेकिन उनका कोरोना से कोई संबंध नहीं है।
कोरोना के प्राथमिक सामान्य लक्षण
 हल्का बुखार, बदन दर्द, आंख का लाल होना, नाक बहना, पेट दर्द, लगातार खांसी होना है। अतः ऐसे लक्षण दिखते ही तत्काल अपनी कोरोना की जांच करवाएं। बेहतर होगा कि आप शक होने पर, लक्षण नहीं होते हुए भी जांच करवा लें, जिससे सही समय पर आपको इलाज उपलब्ध हो सके। अतः आप सभी भाई-बहन, दादा-दादी, काकी-काका से जिला प्रशासन, लोहरदगा का अनुरोध है कि कोरोना के लिए जांच अवश्य करवाएं एवं समय पर टीका का पहला एवं दूसरा डोज लेना पक्का करें।
दो बातों का विशेष रूप से ध्यान रखें
1. पहला, जिनकी कोरोना की जांच सही समय पर हुई, उनका उपचार भी सही समय पर हो पाया है।
2. दूसरा, जिन्होंने टीकाकरण करवाया था। उनके फेफड़े का नुकसान कम हुआ और उनकी जान बचायी जा सकी है।
अतः अपने निकटतम सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में जाकर जांच अवश्य करवाएं । साथ ही अपने साथ आधार कार्ड ले जाकर निकटतम सरकारी टीकाकरण केन्द्र पर दोनों टीके बिना किसी भुगतान के समय पर अवश्य लगवाएं।
Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment