Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

संस्मरण : जनता दल के गठन पर हेमवती नंदन बहुगुणा ने सवाल उठाया था

बीते 2 दिन पूर्व देश के प्रख्यात नेता भारत सरकार के पूर्व मंत्री उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी का जयंती था मुझे पूरी तरह से स्मरण है कि जिस तरीके से लोक दल के नेता हरियाणा के तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री चौधरी देवी लाल जी कांग्रेश से निकले हुए नेता श्री विश्वनाथ प्रताप सिंह एवं अन्य लोगों के साथ मिलकर जनता दल गठन का प्रयोग कर रहे थे उस समय लोक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी थे और उन्होंने जनता दल के प्रयोग पर कई प्रश्न चिन्ह खड़ा किया था उन दिनों इस संदर्भ में मेरे द्वारा भी विश्वनाथ प्रताप सिंह जी को पत्र लिखे गए थे और मैं लगातार स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी के संपर्क में था बहुगुणा जी ने जनता दल के प्रयोग पर जो बात कही थी और उन्होंने यह बताया था कि यह प्रयोग देश को 50 साल पीछे ले जाएगा मैं मानता हूं कि बहुगुणा जी ने जो भविष्यवाणी की थी आज वह सही साबित हो रहा है देश कहीं अंधकार में डूब सा गया है देश की जनता त्राहिमाम है वास्तविकता यह है कि देश में न तो कहीं कोई सत्तापक्ष दिख रहा है और ना तो कोई विपक्ष देख रहा है महंगाई अपने चरम पर है बेरोजगारी चरम पर है सर्वजनिक क्षेत्र की मुनाफा कमाने वाली कंपनियां ओने पौने दाम पर बेच दी गई हैं अब तो रेलवे को भी बेचा जा रहा है इन तमाम अत्यंत प्रतिकूल परिस्थिति में मुझे स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी याद आ रहे हैं जिन्होंने अपने निजी जीवन में नीतियों और सिद्धांतों का आत्मसात किया था जो उनमें सादगी थी जो समर्पण था आज कहीं दिखता नहीं है मुझे याद है कि तत्कालीन प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के हत्या के बाद जो लोकसभा के चुनाव हुए थे उसमें स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी इलाहाबाद संसदीय क्षेत्र से अमिताभ बच्चन से चुनाव हार गए थे चुनाव हारने के बाद तत्काल बहुगुणा जी ने भारत सरकार के आवास मंत्रालय को पत्र लिखा कि उनके लिए स्वतंत्रता सेनानी के लिए निर्धारित आवास आवंटन कर दिया जाए उन्होंने तत्काल सरकारी आवास को छोड़ दिया था इसके पहले भी जनता पार्टी के पतन के बाद कुछ मुद्दों पर श्रीमती इंदिरा गांधी से उनकी सहमति बनी थी तो वह इंदिरा गांधी के द्वारा गठित कांग्रेस पार्टी में मुख्य प्रधान महासचिव बने थे इंदिरा गांधी भारी बहुमत से दुबारे सत्ता में लौटी थी लेकिन बहुगुणा से हुए समझौते को उन्होंने सरकार के एजेंडे में नहीं रखा तो हेमवती नंदन बहुगुणा ने तत्काल कांग्रेस पार्टी को छोड़ दिया और उन्होंने संसद से भी इस्तीफा दे दिया था यह अपने आप में बड़ी बात थी आचार्य नरेंद्र देव के बाद देश में हेमवती नंदन बहुगुणा पहले व्यक्ति थे जिन्होंने लोकसभा से इस्तीफा दिया था उन दिनों देश की जो स्थितियां थी उस पर मेरे लगातार बहुगुणा जी से पत्राचार हुआ करते थे उनकी सैकड़ों चिट्ठियां मेरे पास मौजूद है मैं कुछ पत्रों को जो जनता दल गठन के समय का था इसके साथ सलंग्न कर रहा हूं मैं आज भी काफी विषम परिस्थिति में रहते हुए भी आदरणीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी के समतावादी और वैकल्पिक राजनीति में अपना योगदान दे रहा हूं लेकिन जो विकल्प खड़ा होना चाहिए खड़ा होते दिख नहीं रहा है अंत में मैं स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा जी के प्रति अपनी श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूं।

संजय रघुवर

प्रदेश अध्यक्ष

राष्ट्रवादी विकास पार्टी बिहार

मोबाइल नंबर : 9934 2641 59

Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment