Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

लॉकडाउन के चलते जशपुर के कटहल की पूछपरख नहीं, किसानों को नुकसान

पत्थलगांव: छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में कोरोना महामारी की चेन तोड़ने के लिए जिला प्रशासन द्वारा लागू किए गए सख्त लॉकडाउन के चलते स्थानीय किसानों का कटहल सब्जी का व्यवसाय लगातार दूसरे वर्ष भी प्रभावित हुआ है। जशपुर जिले के गांव गांव में किसानों की बाड़ी और खेत खलिहानों में कटहल के पेड़ों पर बड़ी मात्रा में कटहल लगे हुए हैं। कटहल की खपत पड़ोसी राज्य ओडिशा, झारखंड, उत्तरप्रदेश और छत्तीसगढ़ के महानगरों में होती है। वहाँ के थोक सब्जी व्यापारी किसानों को अग्रिम भुगतान कर कटहल की खरीद लेते हैं। लेकिन इस बार कोरोना लॉकडाउन के चलते किसानों को कटहल फल के लिए ग्राहक ही नहीं मिल रहे हैं। पत्थलगांव के किसान रोशन प्रताप ंिसह का कहना है कि बीते साल की तरह इस बार भी कटहल की बिक्री से उनकी लाखों रुपये की अतिरिक्त आय से हाथ धोना पड़ गया है। उन्होंने कहा कि गर्मी का मौसम में यहाँ के किसानों की बाड़ी और खेत खलिहानों में कटहल के पेड़ों पर बड़ी मात्रा में फल लगे हुए हैं, लेकिन ग्राहक ही नहीं मिल रहे हैं। बीते साल की तरह इस बार भी कोरोना वायरस से निपटने के लिए सख्त लॉकडाउन के चलते बाहर के सब्जी व्यापारियों ने जशपुर जिले से दूरी बना ली है।किसानों का कहना है कि गर्मी के दिनों में कटहल की पैदावार से उन्हें लाखों रुपये की अतिरिक्त आमदनी हो जाती थी, लेकिन इस बार भी कोरोना महामारी का कहर से कटहल के फल अब तक पेड़ों में ही लटके हुए हैं।

Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment