Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

लेवी वसूलने आए तीन अपराधियों को ग्रामीणों ने दबोचा, की जमकर पिटाई, पुलिस को सौंपा

डंडई(गढ़वा) : थाना क्षेत्र के बौलिया गांव स्थित भोटवा पहाड़ पर लेवी वसूलने आये एक अपराधिक गिरोह के तीन सदस्यों को ग्रामीणों ने दबोच लिया। अपराधियों की ग्रामीणोंं ने जमकर पिटाई की। उसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया। पकड़े गए अपराधियों में डंडई थाना क्षेत्र के करके गांव निवासी शंकर चौधरी, रंजीत कुमार रवि तथा गढ़वा थाना क्षेत्र के जोबरईया निवासी रामाधीन राम का नााम शामिल है। प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार की शाम बौलिया के भोटवा पहाड़ पर एक गिरोह के हथियार से लैस तीन अपराधी लेवी वसूलने आए थे। बताया जाता है कि इन अपराधियों को बिछियादामर के यूरिया टोला निवासी रामलाल चौधरी, नागेश्वर चौधरी विजय चौधरी, मईनूदिन अंसारी तथा रफीक अंसारी से लेवी का पैसा वसूलना था। लेवी का पैसा लेकर उक्त लोगों को भोटवा पहाड़ पर बुलाया गया था। इस दौरान गिरोह के अपराधी उस रास्ते से बाइक से गुजर रहे बिसुनिया गांव निवासी संतोष गुप्ता , कमलेश शाह व विजय सिंह को रोक कर पिस्टल सटाते हुए पूछा कि तुम ही रामलाल चौधरी हो ना ? तीनों राहगीरों ने कहा नहीं, हम में से किसी का नाम रामलाल चौधरी नहीं है। पुष्टि नहीं होने पर अपराधियों ने जाने दिया। इसी तरह उधर से गुजरने वाले सभी लोगों को रोक रोक कर उक्त अपराधी रामलाल चौधरी की खोज करते रहे। उसके बाद वापस आने वाले लोगों ने ग्रामीणों को इसकी सूचना दी। ग्रामीणों ने किसी अनहोनी की आशंका को भांपते हुए एकजुट होकर पहाड़ को घेर कर अपराधियों को धर दबोचा तथा जमकर धुनाई कर दी। घटना की जानकारी डंडई व धुरकी थाना को दी गई। जानकारी मिलते ही पुलिस ने घटनास्थल पर पहुंचकर तीनों अपराधियों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। जानकारी देते हुए डंडई थाना प्रभारी सुनील कुमार पटेल ने बताया कि ग्रामीणों की सूचना पर तीनों अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। उनके पास से दो गोली व चार मोबाइल बरामद किया गया है।बिछियादामर के यूरिया टोला निवासी रामलाल चौधरी ने बताया कि वह एक छोटा सा ईंट भट्ठा संचालक हैं। ईट भट्ठा पर 10 दिन पूर्व कुछ अपराधी आए थे। मजदूरों को मारपीट कर मोबाइल लूट कर ले गए थे। अपराधियों ने खुद को टीपीसी बताते हुए मोबाइल नंबर पर फोन करने का हिदायत दिया था। उनके नम्बर पर बात करने पर पैसा लेकर बौलिया के भोटवा पहाड़ पर शाम के समय बुलाया था। रामलाल ने बताया कि घटना के बाद भी उक्त मोबाइल नंबर से फोन आया कि मेरा आदमी को पकड़वा दिया। इसका नतीजा बुरा होगा।

Looks like you have blocked notifications!

Leave a Reply