Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

रेमडेसिविर की कालाबाजारी करने वाला दो युवक गिरफ्तार

बिरसा चौक के समीप पुलिस को मिली सफलता
72 हजार में 4 इंजेक्शन का कर रहे थे सौदा
संवाददाता
रांची : कोरोना संक्रमण काल में एक तरफ जहां लोगों को जरूरी दवाओं के लिए परेशान हैं, वहीं दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे मुश्किल समय में भी जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी कर रहे हैं। रांची में पुलिस ने मंगलवार को रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते दो युवकों को पकड़ा है। पुलिस को जानकारी मिली है कि दोनों ने 72 हजार में 4 रेमडेसिविर इंजेक्शन का सौदा एक बीमार के परिजनों से किया था। उसी को इंजेक्शन बेचने के लिए पहुंचे थे, तभी पुलिस के हत्थे चढ़ गये। बाद में पुलिस ने इन दोनों की निशानदेही पर छापेमारी कर कुछ और इंजेक्शन को भी बरामद किया है। दोनों को जगन्नाथपुर थाने में रखकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस को इन दोनों से पूछताछ के आधार पर एक बड़े रैकेट के खुलासा होने की उम्मीद है। गिरफ्तार युवकों में एक ओवरब्रिज के समीप का रहने वाला है। उसका नाम अभिषेक कुमार बताया जा रहा है। मालूम हो कि इसके पूर्व भी पुलिस ने गोंदा इलाके से जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी के मामले में एक की गिरफ्तारी की थी। कालाबाजारी के इस खेल को डिकोट करने में सीआईडी की टीम भी लगी हुई है। इसके पूर्व मंगलवार को एसएसपी सुरेन्द्र कुमार झा को जानकारी मिली थी कि जगन्नाथपुर इलाके में कुछ लोग जीवन रक्षक दवाइयों की कालाबाजारी करने पहुंचे हैं। सूचना मिली थी कि बंग्लादेश से रेमडेसिविर दवाइयां लाकर रांची में बेची जा रही है। इसी सूचना पर एसएसपी ने पुलिस की एक टीम का गठन किया। इस टीम के सदस्यों ने सादे लिबास में जगन्नाथपुर थाना क्षेत्र स्थित एक होटल के समीप से घेराबंदी कर दोनों युवकों को दबोचा। उनके वाहन को भी पुलिस ने जब्त किया और उन्हें जगन्नाथपुर थाना ले गयी। पुलिस यह भी पता लगाने में जुट गयी है कि बरामद किये गये इंजेक्शन को कहां से लाया गया था।

Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment