Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

राजकोषीय घाटा 90 हजार 729 करोड़ से अधिक का अनुमान

- Sponsored -

लखनऊ 22 फरवरी (सन्मार्ग) उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विधानसभा में सोमवार को पेश किये गये करीब साढ़े पांच लाख करोड़ रूपये के भारी भरकम बजट में राजकोषीय घाटा 90 हजार 729 करोड़ 80 लाख रूपये अनुमानित है।
वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सदन के पटल में भाजपा की मौजूदा सरकार का पांच लाख 50 हजार 270 करोड़ 68 लाख रूपये का पांचवा संपूर्ण बजट प्रस्तुत किया जिसमें 27 हजार 598 करोड़ 40 लाख रूपये की नयी योजनाओं को शामिल किया है।
बजट में कुल प्राप्तियां पांच लाख छह हजार 181 करोड़ 84 लाख रूपये अनुमानित है जिसमें चार लाख 18 हजार 340 करोड़ 44 लाख रूपये की राजस्व प्राप्तियां और 87 हजार 841 करोड़ 40 लाख रूपये की पूंजीगत प्राप्तियां शामिल है।
बजट में कुल व्यय पांच लाख 50 हजार 270 करोड़ 78 लाख रुपये अनुमानित दिखाया गया है जिसमें तीन लाख 95 हजार 130 करोड़ 35 लाख रुपये राजस्व लेखे का व्यय है जबकि एक लाख 55 हजार 140 करोड़ 43 लाख रुपये पूँजी लेखे का व्यय है।
बजट मेे राजकोषीय घाटा 90 हजार 729 करोड़ 80 लाख रुपये अनुमानित है जो वर्ष के लिये अनुमानित सकल राज्य घरेलू उत्पाद का 4.17 प्रतिशत है। राज्य की ऋणग्रस्तता सकल राज्य घरेलू उत्पाद का 28.1 प्रतिशत अनुमानित है वहीं राजस्व बचत 23 हजार 210 करोड़ 09 लाख रुपये अनुमानित है।
सरकार ने राजस्व संग्रह के लिये राज्य वस्तु एवं सेवा कर तथा मूल्य संवर्धित कर से एक लाख चार हजार 385 करोड़ रूपये का लक्ष्य निर्धारित किया है वहीं आबकारी शुल्क से राजस्व संग्रह का लक्ष्य 41 हजार 500 करोड़ रूपये तय किया गया है। स्टांप एवं पंजीकरण से सरकार 25 हजार 500 करोड़ और वाहन कर से नौ हजार 360 करोड़ रूपये एकत्र किये जायेंगे।
प्रदीप
सन्मार्ग

Posted at: Feb 22 2021 4:16PM

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -