Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मुरी का आदित्य बिड़ला हाईस्कूल कर रहा बच्चों की उम्मीदें पूरी

- sponsored -

हिंडाल्को के आदित्य बिड़ला हाई स्कलू +2 के छात्र बोर्ड परीक्षा के लिए तैयार
• प्री-बोर्ड परीक्षा में 99 प्रतिशत बच्चे हुए शामिल
• कोराना काल में बच्चों को आॅनलाइन पढ़ाई करा निभाई जिम्मेदारी
• हिंडाल्को मुरी के सीएसआर के तहत संचालित है स्कूल
• पहली से 12वीं तक के 579 छात्र-छात्राएं पा रहे हैं शिक्षा
मुरी: मुरी स्थित आदित्य बिड़ला हाई स्कूल मई में होने वाले बोर्ड परीक्षा के लिए पूरी तरह तैयार है। स्कूल कोरोना के बीच उत्पन्न हुई परिस्थितियों के बावजूद पूरे इलाके में शिक्षा की लौ जला रहा है। पूरे लॉक डाउन की अवधि में स्कूल द्वारा बच्चों की आॅनलाइ पढ़ाई की व्यवस्था की गई। और अब जब इस स्कूल के बच्चे दसवीं और 12वीं की परीक्षा के लिए तैयार हैं, स्कूल उनकी तैयारी में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है। बच्चों को नए सिलेबस के मुताबिक मॉडल सेट उपलब्ध कराए जा रहे हैं और साथ ही प्रैक्टिकल और अन्य विषयों पर किसी भी प्रश्न के उत्तर और नोट्स आदि उपलब्ध कराया जा रहा है। इस स्कूल का संचालन मुरी वर्क्स हिंडाल्को द्वारा अपनी सीएसआर के तहत किया जाता है। स्कूल में कक्षा एक से लेकर 12वीं तक की शिक्षा बेहद कम शुल्क पर दी जाती है।
झारखंड एकेडमिक कॉंसिल के पाठ्यक्रम पर आधारित इस स्कूल में मुरी और इसके आस पास के इलाके कुल 579 बच्चे पढ़ाई कर रहे हैं। खास बात यह है कि इनमें से मात्र 43 हिंडाल्को कर्मचारी के बच्चे हैं, शेष बच्चे मुरी और आस-पास के गांव के हैं। 14 कमरों का यह स्कूल कोरोना के बीच उत्पन्न तमाम विषम परिस्थितियों के बावजूद बच्चों को निर्बाध शिक्षा प्रदान करा रही है। बच्चों को आॅनलाइन के माध्यम से क्लास लिए जा रहे हैं साथ ही उन्हें नोट्स भी उपलब्ध कराया जा रहा है।
जब पूरी दुनिया वर्चुअल क्साल की तरफ बढ़ी तो इस स्कूल के पास भी कोई दूसरा विकल्प नहीं था। चूंकि मुरी एक रिमोट लोकेशन है और यहां लोगों के बीच वर्चुअल क्साल को लेकर काफी शंकाएं थी, लिहाजा स्कूल के पास चुनौतियां भी ज्यादा थीं। लेकिन स्कूल ने इसका मुकाबला किया। पहले बच्चों के मोबाइल पर वाट्सएप ग्रुप बनाए गए और फिर धीरे-धीरे गुगल मीट के जरिए आॅनलाइन क्लास की व्यवस्था की गई। ग्रामीण क्षेत्र होने के कारण कई बार इंटरनेट की चुनौतियां भी आईं, लेकिन स्कूल प्रबंधन ने छोटे-छोटे वीडियो बनाकर बच्चों को वाट्सएप पर भेजकर उन्हें पढ़ाने का प्रयास किया जिसका काफी सकारात्मक परिणाम सामने आया।
इस बारे में मुरी वर्क्स हिंडाल्को के युनिट हेड एनएन राय ने बताया कि ह्लसामुदायिक विकास के लिए हिंडाल्को हमेशा प्रयत्नशील रहा है। हम अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के प्रति संवेदनशील हैं और मुरी में सीएसआर के तहत संचालित आदित्य बिड़ला हाई स्कूल कोरोना के कारण उत्पन्न हुई विषम परिस्थिति के बावजूद इलाके के बच्चों का भविष्य संवार रही है। हमारा प्रयास है कि स्कूल में सभी नियमों का पालन करते हुए बोर्ड परीक्षार्थियों के लिए सकारात्मक माहौल का निर्माण किया जा सके। इस स्कूल से दसवीं के कुल 50 और 12वीं के कुल 88 बच्चे परीक्षा में बैठेंगे। 12वीं में साइंस के 47 और कला के 41 परीक्षार्थी शामिल होंगे। स्कूल के प्राचार्य एलेक्जेंडर ओस्ता ने बताया कि बच्चों को किसी भी तरह परेशानी ना हो, और साथ ही विषयवार उनके हर सवाल का जवाब उन्हें मिल सके इसकी व्यवस्था की जा रही है।
हिंडाल्को द्वारा संचालित इस स्कूल का पूरे इलाके में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। पिछले वर्ष भी दसवीं और 12वीं की परीक्षा में इस स्कूल के शत-प्रतिशत विद्यार्थी परीक्षा में सफल रहे थे। कोरोना काल में स्कूल भवन में ही 200 बेड वाला क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया था जहां डॉक्टरों के रहने और सभी कोरोना मरीजों के खाने-पीने आदि की पूरी व्यवस्था की गई थी। हिंडाल्को प्रबंधन द्वारा यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि पूरे स्कूल परिसर का सैनेटाइजेशन समय -समय पर हो। बच्चों के बीच निश्चित दूरी और अन्य कोरोना प्रोटोकॉल का शत प्रतिशत अनुपालन किया जा रहा है ताकि कोरोना के संभावित संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored