Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

मुफसिल थाना के बगल में चल रहा था नशा का कारोबार, ब्राउन सुगर के साथ पांच धराया

- Sponsored -

पाकुड़: मुफसिल थाना के बगल में ही नशा का कारोबार किये जाने के मामले का खुलासा हुआ है। एसपी को मिली गुप्त सुचना पर एसडीपीओ अजीत कुमार विमल के नेतृत्व में की गयी छापेमारी में नशे के पांच सौदागरो को रंगे हाथ धर दबोचा गया है। छापेमारी के दौरान 28 पुड़िया ब्राउन सुगर, तौलने की इलेट्रोनिक मशीन, एल्मुनियम पेपर के टुकड़े एवं तीन मोबाइल जप्त किया गया है। पुलिस ने जिन नशे के सौदगारो को गिरफ्तार किया है उनमें नुर मोहम्मद, हाबील शेख, काबील शेख, तौहिद शेख, सारीबुल शेख शामिल है। सभी धराये नशा के सौदागर मुफसिल थाना क्षेत्र के बेलपोखर एवं बल्लभपुर गांव के रहने वाले है। की गयी छापेमारी में पुलिस निरीक्षक सुरेंद्र रविदास, थाना प्रभारी मुफसिल अमर कुमार मिंज, पुलिस अवर निरीक्षक सचिन लकड़ा एवं सहायक अवर निरीक्षक लियाकत अंसारी व जवान शामिल थे। ब्राउन सुगर के साथ पांच लोगो की गिरफ्तारी की जानकारी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अजीत कुमार विमल ने पत्रकार सम्मेलन कर दी। उन्होने बताया कि धराये सभी पांच अभियुक्तो के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की धारा 21, 22 एवं 27 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी है। एसडीपीओ ने बताया कि एसपी को यह गुप्त सुचना मिली थी कि प्राथमिक विद्यालय गंगारामपुर परिसर में चार पांच व्यक्तियो द्वारा अवैध नशीला पदार्थ की बिक्री के लिए पैकिंग की जा रही है। मिली इसी सुचना पर एसपी द्वारा छापेमारी टीम का गठन किया गया। एसडीपीओ ने बताया कि एसपी द्वारा दिये गये निर्देश पर छापेमारी की गयी जिसमें 28 पुड़िया ब्राउन सुगर (11 ग्राम) के साथ पांच लोगो को धर दबोचा गया। एसडीपीओ श्री विमल ने बताया कि धराये लोगो द्वारा ब्राउन सुगर पश्चिम बंगाल से लाये जाने एवं इस अवैध कारोबार मुफसिल एवं नगर थाना क्षेत्र के कुछ लोगो के शामिल रहने को लेकर नाम बताये गये है जिनके खिलाफ कार्रवाई को लेकर गठित टीम अपना काम कर रही है। यहां उल्लेखनीय है कि जिस स्थान से नशीले पदार्थ के साथ पांच अभियुक्तो को गिरफ्तार किया गया है वह मुफसिल थाना से कुछ ही दुरी पर स्थित है। ऐसे में लोग यह सवाल पुछ रहे है कि मुफसिल थाना के बगल में अवैध नशीले पदार्थो की खरीद बिक्री की भनक आखिर थानेदार एवं थाने में पदस्थापित किसी भी पुलिस पदाधिकारी को क्यों नही लगी। चर्चा तो यह भी है कि नशीले पदार्थो के चल रहे अवैध कारोबार में मुफसिल थाने में पदस्थापित कुछ पुलिस पदाधिकारी और कर्मी का संरक्षण मिला हुआ है इसलिए गुपचुप तरीके से लोगो द्वारा एसपी को मामले की जानकारी दी गयी ताकि त्वरीत कार्रवाई हो सके। ज्ञात हो कि अपने पदस्थापन के बाद एसपी एचपी जनार्दनन ने जिले के सभी थानेदारो को अवैध कारेबार पर रोक लगाने का निर्देश दिया था। साथ ही यह हिदायत दी थी कि जिस थाना क्षेत्र में अवैध कारोबार के मामले पाये जायेंगे संबंधित थानेदार के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। अब देखना यह है कि पुलिस अधीक्षक के स्तर से मुफसिल थाना के बगल में नशा के चल रहे अवैध कारोबार मामले में किसी पुलिस पदाधिकारी पर कार्रवाई की जाती है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

Leave a Reply