Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

भारत में कोविड-19 से मृत्यु दर 1.10 फीसदी

गृह मंत्रालय का दावा- देश में पर्याप्त आक्सीजन
नई दिल्ली: भारत में कोविड की स्थिति बेहत चिंताजनक है। आए दिन आ रहे लाखों नए मामलों से स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है। बेड, आॅक्सीजन, दवाएं यहां तक की देश में वैक्सीन को लेकर भी दिक्कतें सामने आ रही है। अच्छी बात यह है कि सोमवार को जारी हुए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 2 दिनों के मुकाबले नए मामलों में गिरावट देखी गई है। वहीं, कोरोना को हराने के लिए उठाए जा रहे कदम और तैयारियों और ताजा अपडेट को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जानकारी दी गई है। इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव, लव अग्रवाल ने बताया, ‘देश की कुल संचयी मृत्यु दर लगभग 1.10% है।’ उन्होंने बताया, ‘देश में अब तक 81.77% मामले ठीक हुए हैं। देश में करीब 34 लाख सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है। अब तक संक्रमण से 2 लाख के करीब मृत्यु दर्ज़ की गई है। पिछले 24 घंटे में देश में 3,417 लोगों की मृत्यु दर्ज़ की गई है।’ वहीं, अग्रवाल ने आगे जानकारी देते हुए कहा कि देश में 12 राज्य ऐसे हैं जहां 1 लाख से भी ज्यादा सक्रिय मामले हैं। 7 राज्यों में 50,000 से 1 लाख के बीच सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है। 17 राज्य ऐसे हैं जहां 50,000 से भी कम सक्रिय मामलों की संख्या बनी हुई है। बताया गया कि कुछ राज्यों में उडश्कऊ के मामलों में बढ़त देखी जा रही है। इन राज्यों को आवश्यक सावधानी बरतनी चाहिए। आंध्र प्रदेश, असम, बिहार, चंडीगढ़, हरियाणा, कर्नाटक केरल, हिमाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, यह वह राज्य हैं। बता दें कि फिलहाल 12 राज्यों में 18 से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है।
नए मामलों में दिख रही कमी
स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि दिल्ली, मध्य प्रदेश सहित कुछ राज्य ऐसे भी हैं, जहां नए मामलों में कमी के शुरूआती संकेत दिखा रहे हैं। उन्होंने आगे कहा िक हम रिकवरियों में भी एक सकारात्मक दृष्टिकोण देख रहे हैं। 2 मई को, रिकवरी दर 78% थी और 3 मई को यह लगभग 82% तक चढ़ गई। ये शुरूआती लाभ हैं जिन पर हमें नियमित रूप से काम करना है।स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, ‘हम चिकित्सा प्रयोजनों के लिए गैसीय आॅक्सीजन का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं। औद्योगिक इकाइयां जो आॅक्सीजन बनाती हैं और जो चिकित्सा उद्देश्य के लिए उपयुक्त हैं और शहरों के पास हैं, हम अस्थायी उडश्कऊ केयर केंद्र बनाने की योजना बना रहे हैं जिनके चारों ओर आॅक्सीजन के बेड हों।’
पर्याप्त मात्रा में आॅक्सीजन उपलब्ध
गृह मंत्रालय के एडिशनल सेक्रेटरी बोले, ‘देश में पर्याप्त मात्रा में आॅक्सीजन उपलब्ध है। एक अगस्त 2020 को आॅक्सीजन का उत्पादन देश में 5,700 मीट्रिक टन था, जो अब लगभग 9,000 मीट्रिक टन हो गया है। हम विदेशों से भी आॅक्सीजन का आयात कर रहे हैं।’ हालांकि, दावों से उलट देश की राजधानी से ही आए दिन आॅक्सीजन की कमी को लेकर चिंता जताई जा रही है।

Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment