Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

बंद ओरिएंटल आउटसोर्सिंग खदान में अवैध उत्खनन के दौरान धंसी जमीन, आधा दर्जन लोग मलवे में दबे

कतरास- कोयलांचल के बाघमारा क्षेत्र में अवैध कोयले का काला कारोबार धड़ल्ले से फल फूल रहा है। लोग अपनी जान जोखिम में डाल कर बन्द कोयला खदान में उत्खनन करते है। जिस कारण आए दिन मजदूर घटना के शिकार हो रहे है। हालांकि अवैध कोयला उत्खनन कार्य मे संलग्न होने के कारण मजदूर खुल कर सामने भी नही आ पाते है और अपनी जान से हाथ धो बैठते है। मजदूर जान जोखिम में डाल कर बन्द खदानों से कोयला निकालने का काम करते है,वही अवैध कोयला कारोबार करने वाले धंधेबाज लाखो करोड़ो में खेलते है। इन सब के बीच स्थानीय पुलिस बेखबर रहती है क्योकि अवैध धंधेबाजों का पुलिसिया साठ गांठ किसी से छिपी नही है।

तेज आवाज के साथ जमीन धंसते ही मची अफरा तफरी

ताजा मामला कतरास थाना क्षेत्र अंतर्गत बीसीसीएल के गोविंदपुर क्षेत्र संख्या 3 के बंद पड़ी ओरियंटल आउटसोर्सिंग खदान का है,जहाँ सोमवार की अहले सुबह बन्द खदान में तेज आवाज के साथ जमीन धंस गई। जमीन धंसने की घटना से आसपास भगदड़ मच गया। लोग इधर उधर भागने लगे और खदान के अंदर अवैध कोयला उत्खनन कर रहे आधा दर्जन मजदूर मलवे में दब गए। आनन फानन में खदान के बाहर उपस्थित अन्य साथियों ने दबे मजदूरों को मलवे से किसी प्रकार बाहर निकाला और वहा से ले भागे ।
तेज आवाज के साथ हुई घटना की जानकारी मिलने पर आस पास के स्थानीय ग्रामीण मौके पर पहुँचे । वही घटना की जानकारी पाकर स्थानीय पुलिस व कंपनी प्रबंधक भी पहुंचे और घटना की जानकारी ले जांच पड़ताल में जुट गए ।
घटना के पीछे बीसीसीएल प्रबंधन की लापरवाही

मौके पर जुटे स्थानीय ग्रामीण ने बताया कि जमीन धंसने की जानकारी पर वे लोग घटनास्थल पर पहुंचे। घटना को लेकर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि बीसीसीएल आउटसोर्सिंग के माध्यम से कोयला निकाल माइंस को ऐसे ही खुला छोड़ देती है। जहां कोयला तस्कर मौका देख फायदा उठाते हुए अवैध कोयला उत्खनन करते है। अवैध कोयला उत्खनन के कारण ही जमीन धंसी है। घटना में मजदूरों के घायल होने की बात भी पता चला था लेकिन सभी भाग निकले। अवैध माइंस के कारण आस पास के लोग भी हर पल खतरे में जीते है। घटना के पीछे बीसीसीएल प्रबंधन की लापरवाही है इसमें वे ही पूरी तरह से दोषी है

Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment