Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पहले चरण में तीन करोड़ लोगों का होगा टीकाकरण, केंद्र उठायेगा खर्च

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ की बैठक

- Sponsored -

नयी दिल्ली : कोरोना वायरस पर पहले वार के लिए 16 जनवरी से देश में वैक्सीन दी जायेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में कहा कि पहले फेज में तीन करोड़ लोगों को वैक्सीन दी जायेगी। यह वैक्सीन विभिन्न राज्यों के हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जायेगी। इस टीकाकरण में जो भी खर्च आयेगा वह केंद्र सरकार देगी, किसी राज्य सरकार को वैक्सीन के लिए पैसे नहीं देने होंगे। सबसे पहले हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण किया जायेगा, उसके बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, जिनमें पुलिस, सेना, होमगार्ड, एनडीआरएफ से जुड़े लोग शामिल हैं। मुख्यमंत्रियों के बीच बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि 16 जनवरी से देश में वैक्सीनेशन का काम शुरू होगा और यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान होगा। अभी देश में दो वैक्सीन तैयार हैं और चार वैक्सीन तैयार होने के क्रम में है। देश में बनी दोनों वैक्सीन किफायती है। पीएम मोदी ने कहा कि हमें कोरोना वैक्सीन के प्रति भ्रम फैलाने वालों से सावधान रहना है। यह एक मिशन है जिसे फेल करने की कोशिश होगी। पीएम मोदी ने कहा कि देश के नौ राज्यों में बर्ड फ्लू आ चुका है, हमें इससे भी सावधान रहना है। हमें यह देखना होगा कि अफवाह ना फैले।
टीकाकरण के लिए विभिन्न राज्यों में तैयारी शुरू हो गयी है, इन तैयारियों की समीक्षा के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। इस बैठक से पहले इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने अपने 3.5 लाख सदस्यों से यह कहा है कि वे विभिन्न सेंटर पर सामने आयें और टीका लगवाकर पूरे विश्व को यह बता दें कि यह टीका पूरी तरह सुरक्षित है। वैक्सीन लगाने का काम 16 जनवरी से शुरू होना है, इसके लिए आज यूपी में तीसरे चरण का ड्राई रन हुआ। वहीं महाराष्ट्र में वैक्सीन को पुणे के सीरम इंस्टीट्‌यूट से देश के दूसरे हिस्से में पहुंचाने की तैयारी चल रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored