Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

पंचायत चुनाव दो महीने के अंदर नहीं हुए तो कांग्रेस करेगी आंदोलन: कमलनाथ

- Sponsored -

भोपाल: वरिष्ठ कांग्रेस नेता एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पंचायत चुनाव रद्द होने का ठीकरा राज्य की भारतीय जनता पार्टी सरकार पर फोड़ते हुए आज कहा कि अगर पंचायत चुनाव दो महीने के अंदर परिसीमन, रोटेशन और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) आरक्षण के साथ नहीं कराए गए, तो कांग्रेस आंदोलन करेगी।
श्री कमलनाथ ने यहां अपने निवास पर पत्रकारों से चर्चा में सरकार को चेताते हुए कहा कि प्रदेश में पिछले सात वर्ष से पंचायत के चुनाव नहीं हो पा रहे हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इसकी मुख्य वजह भाजपा सरकार की ओबीसी और आरक्षण विरोधी नीति है। उन्होंने कहा कि आॅर्डिनेंस के जरिए सरकार एक ऐसा कानून लेकर आई, जिसमें न रोटेशन का पालन किया गया, न परिसीमन का और न आरक्षण का, इसी कानून की वजह से पंचायत चुनाव रद्द हो गए।
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर भाजपा सरकार दो महीने के भीतर परिसीमन, रोटेशन और ओबीसी आरक्षण के साथ ग्राम पंचायत चुनाव नहीं कराती, तो कांग्रेस जिला स्तर, ब्लॉक स्तर से लेकर ग्राम पंचायत स्तर तक आंदोलन करेगी। उन्होंने कहा कि उच्चतम न्यायालय में याचिकाकर्ताओं द्वारा परिसीमन और रोटेशन का मुद्दा उठाया गया था, लेकिन जब न्यायालय ने ओबीसी आरक्षण के मुद्दे पर अपना फैसला सुनाया, तो सरकार की ओर से आपत्ति नहीं उठायी गयी। उन्होंने कहा कि सरकार को अगले ही दिन पुनर्विचार याचिका लगानी चाहिए थी, जो नहीं लगायी गयी।
श्री कमलनाथ ने कहा कि विधानसभा सत्र के दौरान कांग्रेस स्थगन प्रस्ताव लेकर आई और उसके बाद सदन ने ओबीसी आरक्षण के साथ चुनाव कराए जाने के बारे में संकल्प पारित किया। उन्होंने भाजपा सरकार को ओबीसी विरोधी बताते हुए कहा कि भाजपा लम्बे समय से सरकार में है, लेकिन क्या कभी ओबीसी को 27 प्रतिशत आरक्षण देने का प्रस्ताव सदन में रखा गया।
मध्यप्रदेश में हाल ही में हुई ओलावृष्टि के सवाल पर श्री कमलनाथ ने कहा कि सरकार को तत्काल किसानों को मुआवजा देना चाहिए। उत्तर प्रदेश में होने जा रहे आगामी विधानसभा चुनाव के बारे में पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि कम समय में ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश में उत्साह का माहौल पैदा कर दिया है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जो चुनाव परिणाम आएंगे, उन पर लोगों को ताज्जुब होगा।
पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई कथित लापरवाही के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा पूरे देश के मान सम्मान का विषय होती है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा इस विषय पर राजनीति करना चाहती है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा की पूरी जांच होनी चाहिए, उन्हें समुचित सुरक्षा दी जानी चाहिए। लेकिन उस पर राजनीति करना बहुत ही ंिनदनीय है।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.