Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

निवेश के नाम पर करोड़ों की ठगी के आरोपी श्रीकांत दास की पत्नी और ससुर गिरफ्तार

- sponsored -

धनबाद: एंजेल ब्रोकिंग प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर निवेश कर करोड़ों की राशि की ठगी करने वाले मुख्य अभियुक्त श्रीकांत दास की पत्नी सुनीता दास उर्फ रिम्पा और ससुर सोलन दास को मैथन पुलिस ने मिहिजाम से गिरफ्तार किया है। दोनों एंजेल ब्रोकिंग कंपनी के एजेंट हैं। इन्होंने 100 से अधिक लोगों से 10 से 15 करोड़ की राशि निवेश कराई थी। निवेशकों ने अगस्त में एंजेल ब्रोकिंग कंपनी के कुल 8 लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी मैथन थाना में दर्ज कराई थी। पश्चिम बंगाल के आसनसोल के प्रशांत दास और श्रीकांत दास ने अपने आपको एंजल ब्रोकिंग कंपनी के एजेंट बताकर मैथन में अपना कार्यालय खोला था। दोनों सगे भाइयों ने मैथन के ही रहने वाले 3 लोगों को अपना एजेंट नियुक्त किया था। इन तीनों ने ज्यादातर सेवानिवृत्त हो चुके लोगों को कंपनी में निवेश के लिए प्रलोभन दिया था। तीनों की ओर से लोगों को एक लाख की रकम निवेश करने पर हर महीने 3% के हिसाब से रिटर्न देने का प्रलोभन देते थे, साथ ही कहा गया उनके निवेश का रुपया कमोडिटी शेयर में लगाया जाता है। मैथन के ही एजेंट रहने के कारण यहां के स्थानीय लोगों का कंपनी के प्रति विश्वास भी बढ़ा और अपनी जिंदगी भर की सारी कमाई ज्यादातर लोगों ने इस कंपनी में निवेश कर दी। कंपनी की ओर से निवेशकों को मोटी रकम निवेश करने पर विदेश भ्रमण समेत देश के पर्यटक स्थलों का भी भ्रमण करने की स्कीम बताई जाती थी। जालसाजों ने भोले भाले लोगों को फंसाने के लिए अपनी पत्नी और ससुराल के लोगों को रखा था।निवेशकों को जब राशि का भुगतान नहीं होने लगा तो उन्होंने मैथन थाना में ठगी की शिकायत दर्ज कराई। 8 आरोपियों में से दो आरोपी सुनीता और सोलन दास को मिहिजाम से मैथन थाना की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद दोनों काफी लंबे समय से फरार चल रहे थे। अन्य आरोपियों कि गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored

- Sponsored -