Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

झारखंड : कोरोना काल की योजनाएं ले रही आकार, बन रही आजीविका का माध्यम

- Sponsored -

रांची, 19 फरवरी (सन्मार्ग) झारखण्ड के ग्रामीण क्षेत्रों में आम्रपाली, मल्लिका प्रजाति के आम एवं अमरूद, नींबू, थाई बैर, कटहल, शरीफा ,लेमन ग्रास, पल्मारोसा जैसे खुशबूदार पौधे अपनी खुशबू बिखेर ग्रामीणों के लिए आजीविका का माध्यम बन रहें हैं।

ऐसा हो रहा है बिरसा हरित ग्राम योजना के माध्यम से। मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने मनरेगा अंतर्गत बिरसा हरित ग्राम योजना का शुभारम्भ जिस मुख्य उद्देश्य से किया था, वह फलीभूत होने लगा है। आदिवासी, पिछड़ा वर्ग, लघु एवं सीमांत किसानों को मनरेगा के अंतर्गत न केवल 100 दिनों का रोजगार देने , बल्कि उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाने एवं लम्बे समय तक आमदनी प्रदान करने के लिए ग्रामीणों के लिए परिसंपत्ति निर्माण का प्रयास रंग ला रहा है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored