Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

गुजरात में कोरोना का भयावह तेज़ी का दौर जारी, सक्रिय मामले एक लाख के पार, 142 और मरे

गांधीनगर, 23 अप्रैल (वार्ता) गुजरात में कोरोना की विस्फोटक स्थिति के बीच पिछले 24 घंटे में इसके संक्रमण के रिकार्ड 13804 नये मामले सामने आए है जो अब तक किसी एक दिन के लिए सर्वाधिक हैं और इस दौरान 142 और मौतें भी दर्ज की गयी हैं।
आज लगातार 23 वें दिन नए मामलों का नया रिकार्ड बना। सक्रिय मामले एक ही दिन में आठ हज़ार से अधिक की उछाल के साथ एक लाख के पार चले गए हैं। पिछले पांच दिनो से सक्रिय मामलों में रोज़ सात हज़ार अथवा इससे अधिक की वृद्धि हो रही है।
गत 31 मार्च से लगातार तेज़ी का दौर शुरू है। अहमदाबाद और सूरत सबसे बुरी तरह प्रभावित हैं।
आज 22 मौतें अहमदाबाद, 21 सूरत, 13 राजकोट और 16 वडोदरा में हुई। अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा और राजकोट जिलों में क्रमशः 5470 (केवल महानगर में 5411), 2817(केवल महानगर में 2176), 716(केवल महानगर में 546) और 719 (केवल महानगर में 626) नये मामले सामने आए हैं। जामनगर शहर में 354 और ग्रामीण क्षेत्रों में 253 और महेसाणा ज़िले में कुल मिलाकर 476, पाटन 165, बनासकांठा में 278, भावनगर ज़िले में 302 (महानगर में 166), गांधीनगर 280 (महानगर में 163) कच्छ में 210 नए मामले सामने आए। अब तक राज्य में कुल 6019 मौतें दर्ज की गयी हैं। कुल मिलाकर चार लाख 64 हज़ार से अधिक मामले अब तक सामने आ चुके हैं।
राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आधिकारिक आंकडों के अनुसार पिछले 24 घंटे में 5618 लोगों को अस्पताल से छुट्टी भी मिली। है। सक्रिय मामलों की संख्या और बढ़ कर 100128 हो गयी है जिनमे 384 लोग जीवन रक्षक प्रणाली यानी वेंटिलेटर पर हैं।
राज्य सरकार ने एक अप्रैल से किसी भी राज्य से आने-जाने वालों के लिए आरटी पीसीआर जांच की नेगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य कर दिया है। बाहरी राज्यों से आने वाले हर यात्री की सघन स्क्रीनिंग की जा रही है। जांच रिपोर्ट नहीं लाने वाले से 800 रुपए का शुल्क लेकर हवाई अड्डे, रेलवे स्टेशन, बस अड्डों और अन्य स्थानों पर उनकी जांच की जा रही है और पॉज़िटिव आने पर उन्हें संस्थागत क्वॉरंटीन में रखा जा रहा है।
राज्य में पार्क और स्कूल आदि पहले से ही बंद हैं और आठों महानगरों अहमदाबाद, सूरत, राजकोट, वडोदरा, जामनगर, भावनगर, गांधीनगर और जूनागढ़ समेत 20 शहरों में रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक रात्रि कर्फ़्यू है। राज्य सरकार ने कई अन्य क़दमों की भी घोषणा की है। अब तक राज्य में कुल 17 लाख 86 हज़ार से अधिक लोगों को कोरोना के टीके की दोनो खुराक दी जा चुकी है।
राज्य में कुछ सप्ताह पहले हुए स्थानीय चुनावों के दौरान जुटी भीड़ और अहमदाबाद के मोटेरा स्थित नरेंद्र मोदी स्टेडियम में हुए क्रिकेट मैचों को भी कोरोना के तेज़ी से पांव फैलाने के लिए ज़िम्मेदार माना जा रहा है। राज्य सरकार ने गुजरात बोर्ड की 10 वीं और 12 वीं बोर्ड की अगले माह होने वाली परीक्षाएं पहले ही स्थगित कर दी हैं।

Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment