Live 7 TV
सनसनी नहीं, सटीक खबर

कोरोना चेन को तोड़ने के लिये लॉकडाउन जरूरी : डॉ. त्यागराजन

दरभंगा: बिहार में दरभंगा के जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एस.एम. एवं वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराना जरूरी है, इससे लोगों को स्वास्थ्य सेवा भी बेहतर मिलेगी और कोरोना का चेन भी तोड़ा जा सकेगा। जिलाधिकारी डॉक्टर त्यागराजन एस एम ने बुधवार को यूनीवार्ता से बातचीत में कहा कि दरभंगा जिला में लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए प्रशासन पूरी तरह कृत संकल्पित है। उन्होंने कहा कि लोगों को घरों में रहने के लिए बार-बार अनुरोध किया जा रहा है और इसका प्रचार कराकर भी उन्हें कोरोना संक्रमण से बचने के लिए जानकारी दी जा रही है। इसके बावजूद भी कुछ लोग अनावश्यक घर से बाहर निकल कर मटरगश्ती कर रहे हैं, जिनके खिलाफ ड्रोन कैमरा की मदद से उनकी पहचान कर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि इसके लिए ड्रोन कैमरा भी हायर किया गया है। डॉक्टर त्यागराजन ने बताया कि लॉक डाउन का पहला दिन है और बहुत लोगों को इसकी सही ढंग से जानकारी नहीं है जिस कारण कुछ इलाकों में माइक के द्वारा आम लोगों को लॉकडाउन के प्रावधानों के बारे में जानकारी दी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने लॉकडाउन लगाकर एक महत्वपूर्ण कार्यवाही की है जिसका सख्ती से पालन कराने के लिए सभी पदाधिकारी एवं पुलिसकर्मी सड़कों पर हैं और इसका अनुपालन करा रहे हैं वहीं कुछ जगहों पर कड़ाई भी की गई है। उन्होंने कहा कि दरभंगा स्थित बाजार समिति में छह महीना के खाद्यान्न सामग्री समेत अन्य आवश्यक सामग्री का स्टॉक है इसीलिए किसी भी व्यक्ति को इसके लिए अफरा तफरी करने की जरूरत नहीं है। श्री त्यागराजन ने कहा कि एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है जिस पर आम लोग होंिडग करने एवं कालाजाबारी करने वाले के खिलाफ सीधे शिकायत दर्ज करा सकते हैं। उन्होंने दूरस्थ प्रखण्डों के बड़े बाजार, जहाँ भीड़-भाड़ रहती है, उसे तुरंत बड़े मैदानों में शिफ्ट कराने का निर्देश संबंधित अंचलाधिकारियों को दिया है। साथ ही उन बाजारों में कोरोना टेंिस्टग कराने के भी निर्देश दिये गये हैं। श्री त्यागराजन ने कहा कि स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के किसी भी कर्मी के आवागमन में बाधा नहीं पहुँचायी जाएगी। ए.एन.एम., पारा मेडिकल स्टॉफ, चिकित्सक, टीकाकरण कर्मी या टीकाकरण केन्द्र पर टीका लेने जाने वालों को भी बाधा नहीं पहुँचाई जाएगी। इनमें आॅक्सीजन प्लॉट पर काम करने वाले भी शामिल रहेंगे।उन्होंने बताया कि यदि कोई लॉकडाउन में असहाय्य व्यक्ति कहीं फंस गया है, तो उसके लिए खाना की व्यवस्था करने के लिए सभी प्रखण्ड मुख्यालय, अनुमण्डल कार्यालय में नियंत्रण कक्ष की स्थापना कर ली गयी है। वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम ने बताया कि अगले 11 दिन में पुलिस की सर्वोच्च प्राथमिकता लॉकडाउन को सख्ती से लागू कराना रहेगा और जहाँ भी लॉकडाउन का उल्लंघन पाया जाएगा, उनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराते हुए कठोर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि विवाह में बारात नहीं निकलेगी और न ही डी.जे. बजेगा। विवाह पक्ष के लोगों के द्वारा तीन दिन पहले संबंधित थाना को सूचना देना आवश्यक होगा।वैसी सवारी गाड़ी जो रिजर्व करके ले जा रहे हों तो सवार के लिए निजी वाहन की श्रेणी में होंगे। उसमें सवारी करने वाले के पास रेल या हवाई जहाज के टिकट हों या स्वास्थ्य से जुड़ी गतिविधियों में शामिल हो अन्यथा विशेष कार्य हेतु निर्गत ई-पास उपलब्ध हो। उन्होंने बताया कि ई – पास निर्गत करने हेतु दरभंगा में एसडीओ को जिलाधिकारी ने प्राधिकृत किया है।

 

Looks like you have blocked notifications!
Leave a comment