Live 7 Bharat
जनता की आवाज

अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर वृन्दावन में उमड़ा तीर्थयात्रियों का सैलाब

- Sponsored -

मथुरा: उत्तर प्रदेश में पौराणिक नगरी मथुरा एवं वृंदावन में अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर मंगलवार को मन्दिरों में तीर्थयात्रियों का सैलाब उमड़ पड़ा।
वृंदावन स्थित भगवान कृष्ण के बांकेबिहारी मन्दिर में चरण दर्शन के लिये सुबह से ही होड़ लग गयी। मथुरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसपी मार्तण्ड प्रकाश ंिसह ने बताया कि वृन्दावन में पूरे हर्षोल्लास के साथ अक्षय तृतीया का पर्व मनाया गया। इस दौरान किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना का समाचार नहीं है।
उन्होंने कहा कि वृन्दावन के प्रमुख मन्दिरों में स्थिति पर नजर रखने के लिये सादा वर्दी में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था, जिससे न केवल महिलाओं के साथ अभद्रता को रोका जा सके बल्कि जेबतराशी और झपटमारी जैसे अपराधों को भी रोका जा सके। इस दौरान यातायात व्यवस्था सुनियोजित बनाने के कारण आज सडको पर होने वाले जाम को भी रोका जा सका।
अक्षय तृतीया का पर्व वृन्दावन के मन्दिरों में चन्दनयात्रा के रूप में भी मनाया गया। ऐसी मान्यता है कि इस दिन ठाकुर जी के दर्शन करने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है। बांकेबिहारी मन्दिर में सेवायत आचार्य ज्ञानेन्द्र गोस्वामी के अनुसार तीर्थयात्रियों की सबसे अधिक भीड़ बांकेबिहारी मन्दिर में ठाकुर जी के चरण दर्शन के लिये रही। इस मन्दिर में ठाकुर के चरण दर्शन वर्ष में एक बार केवल अक्षय तृतीया पर ही होते हैं।
वृन्दावन के ही राधादामोदर मन्दिर में आज चरण दर्शन करने वालों में विदेशी कृष्ण भक्तों की संख्या भी अधिक थी। मन्दिर के सेवायत आचार्य बलराम गोस्वामी के अनुसार इस मन्दिर में इस्कॉन के प्रवर्तक भक्ति वेदान्त स्वामी प्रभुपाद को ज्ञान प्राप्त हुआ था। इसलिए तीर्थयात्रियों के साथ विदेशी कृष्ण भक्तों ने भी आज उस गिर्राज शिला की परिक्रमा की जिसे स्वयं श्यामसुन्दर ने सनातन गोस्वामी को दिया था।
मथुरा के केशवदेव मन्दिर, दीर्घ विष्णु मन्दिर, द्वारकाधीश मन्दिर , गोवर्धन के दानघाटी मन्दिर, मुकुट मुखारबिन्द मन्दिर, गरूड़गोविन्द मन्दिर छटीकरा, गोकुल और बल्देव के मन्दिरों में आज श्रद्धालुओं ने चन्दन यात्रा के दर्शन किये।

Looks like you have blocked notifications!

- Sponsored -

- Sponsored -

Comments are closed.

Breaking News: